Trending

चीन की अकल ठिकाने लगायेगा गौतम अडानी..! कर रहे ये बड़ी डील, भारत को होगा फ़ायदा 

गौतम अडानी चीन के चिपसेट और AI सेक्टर में पैसे निवेश करने की बातचीत के साथ भारत सरकार घरेलू कंपनियों को चिपसेट और एआई सेक्टर में निवेश करने के लिए कह रही है। भारत सरकार भारतीय कंपनियों को इंडिया एआई मिशन के तहत निवेश करने के लिए खूब उत्साहित कर रही है।

आज के समय में चीन विकसित (Advanced) चिपसेट बनाने के क्षेत्र में सबसे आगे है, जिनका उपयोग मोबाइल फोन, कार समेत सभी तरह के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स में होता है। हालांकि चीन की अकल ठिकाने लगाने के लिए  गौतम अडानी मैदान में उतर रहे हैं। अडानी ग्रुप के फाउंडर और चेयरमैन गौतम अडानी से सोमवार को कहा कि उन्होंने चिप मेकर क्वॉलकॉम के प्रेसिडेंट और सीईओ (ceo) क्रिस्टियानो आमोन से मुलाकात की है और सेमीकंडक्टर, AI, मोबिलिटी के साथ एज एप्लायंस समेत कई सेक्टर को लेकर विस्तार से बातचीत की है।

घरेलू कंपनियों को होगा फायदा

चिपसेट और AI के क्षेत्र में अडानी बहुत ज्यादा निवेश कर सकते हैं। बता दें कि भारत सरकार भी स्थानीय चिपसेट मैन्युफैक्चिरिंग और AI पर फोकस कर रही है। मोदी सरकार चाहती है कि इस नए उभरते हुए सेक्टर में विदेशी कंपनियों का कब्जा न हो जाए। इसके लिए भारत सरकार घरेलू कंपनियों को चिपसेट और एआई सेक्टर में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है।

 20 हजार बेरोजगारो को मिलेगी नई नौकरियां

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर किए गए पोस्ट में गौतम अडानी ने कहा कि उनकी क्वॉलकॉम सीईओ और लीडिरशिप के साथ मीटिंग काफी सफल रही है।भारत ने 15.14 अरब डॉलर की तीन नए सेमीकंडक्टर प्रोजेक्ट को शुरू किया है। इसमें टाटा समूह के दो प्रोजेक्ट हैं। पीएम मोदी के लीडिरशिप में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इन प्रोजेक्ट को मंजूरी दी है। इससे टेक्नोलॉजी सेक्टर में 20,000 एडवांस्ड नौकरियां पैदा होने की उम्मीद है। साथ ही 60,000 इन-डायरेक्ट नौकरियां पैदा होंगी। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले हफ्ते 10,371.92 करोड़ रुपये के बजट के इंडिया एआई मिशन को मंजूरी दी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button