Trending

CAA Notification Released : केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, जारी कर दिया CAA नोटिफिकेशन

Raj Samand District : केंद्रीय गृह मंत्रालय ने CAA के नियमों को लेकर नोटिफिकेशन जारी किया है। ऐसे में बता दें कि इस सूचना को शाम 6 बजे जारी किया गया है। आपको बता दू कि लोकसभा चुनाव होने वाले हैं लेकिन उससे पहले ही CAA यानी नागरिकता संशोधन अधिनियम के सारे नियमों की सूचना प्रकाशित की गई है। देखा जाए तो केंद्र सरकार का यह एक बहुत ही बड़ा और महत्वपूर्ण निर्णय है जिसके लिए ऑनलाइन पोर्टल और साथ में रूल्स को तैयार किया गया है।

CAA नोटिफिकेशन जारी

सीएए के सारे नियमों को लेकर गृह मंत्रालय ने आज नोटिफिकेशन जारी किया है। सोमवार यानी 11 मार्च 2024 के दिन शाम को 6 बजे के नागरिकता संशोधन अधिनियम के सब नियम के बारे में सूचना जारी कर दी गई है। बता दें कि अब देश भर में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं लेकिन सरकार ने इलेक्शन होने से पहले ही सीएए के नियमों के बारे में नोटिस जारी किया है।

CAA नोटिफिकेशन कब आएगा

आज शाम को नागरिकता संशोधन अधिनियम नोटिफिकेशन जारी हो गया है। ऐसे में जानकारी के लिए बता दें कि सरकार आने वाले कुछ दिनों के भीतर लोकसभा चुनावों की डेट के बारे में घोषणा कर सकती है। इसलिए देखा जाए तो केंद्र सरकार ने सीएए नोटिफिकेशन को जारी करके बहुत चतुराई का काम किया है। बता दें कि गृह मंत्रालय के द्वारा अधिसूचना जारी होते ही पूरे देश भर में सीएए यानी नागरिकता संशोधन अधिनियम को लागू कर दिया गया है।

नागरिकता संशोधन अधिनियम कब पारित हुआ था

जानकारी के लिए बता दें की नागरिकता संशोधन अधिनियम यानी सीएए साल 2019 में दिसंबर के महीने में पारित किया गया था। उसके बाद इस कानून को देश के राष्ट्रपति ने अपनी मंजूरी दे दी थी। परंतु उसके बाद फिर देश भर के अलग-अलग हिस्सों में सीएए के विरुद्ध प्रदर्शन होने लगे थे। लेकिन केन्द्र सरकार इस कानून को अब तक लागू नहीं कर सकी थी। दरअसल इसे लागू करने के लिए जरूरी नियमों को अधिसूचित किया जाना आवश्यक है। तो यही वजह थी जिसके कारण इस कानून को लागू नहीं किया जा सका था।

सीएए के अंतर्गत किन्हें मिलेगी भारतीय नागरिकता

बता दें कि सीएए के तहत हिंदू, जैन, सिख, ईसाई, पारसी और बौद्ध जैसे 6 गैर-मुस्लिम समुदायों को सम्मिलित किया गया है। जानकारी दे दें कि इन्हें सिर्फ तभी भारतीय राष्ट्रीयता मिलेगी जब ये समुदाय 31 दिसंबर 2014 को या फिर उससे पूर्व भारत में शरण लेने के लिए आए होंगे। इस प्रकार से 31 दिसंबर 2014 से पहले पहले जो लोग अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से भारत आए थे सिर्फ उन लोगों को ही केंद्र सरकार के द्वारा भारतीय नागरिकता प्रदान की जाएगी।

नागरिकता संशोधन अधिनियम के बारे में गृहमंत्री ने क्या कहा

देश के गृहमंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर कहा कि इस कानून को कोई भी लागू होने से रोक नहीं सकेगा। यह हमारे देश का बनाया हुआ कानून है जो सब पर लागू होगा। ऐसे में अब सीएए देशभर में लागू किया जाएगा। गृह मंत्री अमित शाह के इस बयान को इलेक्शन का प्रचार भी बताया जा रहा है क्योंकि अब लोकसभा चुनाव होने वाले हैं।

ममता बनर्जी ने सीएए को बताया भाजपा के लिए चुनाव प्रचार अभियान

जहां एक और देश के गृहमंत्री कह रहे हैं कि सीएए के कार्यान्वयन को अब कोई नहीं रोक सकता। तो वहीं दूसरी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे भाजपा का चुनाव प्रचार अभियान बताया है। ममता बनर्जी ने कहा कि पहले मुझे नागरिकता संशोधन अधिनियम के सारे नियमों को एक बार देखने दीजिए। अभी तक नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है तो ऐसे में अगर इन नियमों के जरिए से नागरिकों के अधिकारों से उन्हें वंचित किया जाएगा तो तब हम इसके खिलाफ अवश्य लड़ेंगे। यह सिर्फ भारतीय जनता पार्टी का चुनाव के लिए एक प्रचार मात्र है और इसके अलावा इसकी कोई मान्यता नहीं है।

देखा जाए तो केंद्र सरकार ने चुनाव के समय नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर अधिसूचना जारी की है। इसके बारे में अब तरह-तरह की बातें हो रही है कोई इसे चुनाव प्रचार करने का तरीका बता रहा है तो कोई कुछ और। लेकिन इसके बारे में फिलहाल अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। अभी देखना बाकी है कि सीएए भारत में लागू होगा या फिर नहीं क्योंकि अब से पहले भी इसके खिलाफ काफी कड़े विरोध प्रदर्शन हुए थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button